Privatisation Is Not Reform

Submitted by admin on Mon, 2017-07-10 17:49
The decision to privatise Air India comes at a time when the government’s “reform” credentials are being questioned by big business. All information publicly available points to a continuing improvement in the performance of the airlines. Between 2011–12 and 2015–16, the last year for which official financial results are available, the airline showed a steady improvement in terms of its operational profi t/loss as well as its passenger load factor. The corporate business press is lauding the government’s privatisation decision, hailing it as the resumption of “reforms” which has come to mean more disinvestment and privatisation. It is hard to understand how mismanaging public assets and then selling them is “reform.”

Tamilnadu Peasants organization held meeting in Thoothukudi district.

Submitted by admin on Wed, 2017-07-05 11:43

Thumbnail of peasant meetingTamizhaga Vivasayeegal Sangam organized a meeting of peasants near Pasuvandanai in Thoothukudi district of Tamilnadu in June. Peasants belonging to Jambulingapuram, Kudirai Kulam and Chillong Kulam villages took active part in this meeting. Besides, leaders and activists of Communist Ghadar Party, Workers Unity Movement and Unorganized Workers Federation also took part in this meeting.

भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति - प्रेस विज्ञप्ति

Submitted by admin on Fri, 2017-06-30 12:23

भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति

व्यर्थ नहीं जायेगा शहीदों का बलिदान - किसान मुक्ति यात्रा
कर्ज-मुक्ति और ड्योढ़े दाम के लिए किसान मुक्ति यात्रा - 6 जुलाई मंदसौर से 18 जुलाई दिल्ली तक

खुशहाली की दो आयाम, ऋण मुक्ति और पुरे दाम

Bhadrak Riots: OHRC seeks Report from Govt

Submitted by admin on Fri, 2017-06-23 11:40

Thumbnail-Bhadrak-violenceBhubaneswar: The Odisha Human Rights Commission (OHRC) has sought a report from the Government of Odisha over allegation that the police administration and concerned officials at the state level did not follow guidelines and Standard Operating Procedures (SOPs) set by Union Ministry of Home Affairs to maintain communal harmony, leading to a communal riot in Bhadrak during the month of April, 2017.

लोगों के हाथों में सत्ता लाने के रास्ते में चुनौतियों पर हनुमानगढ़ में सभा

Submitted by admin on Tue, 2017-06-20 14:41

Thumbnail-meetingलोक  राज संगठन की राजस्थान परिषद् पिछले कई वर्षों से राजस्थान के शिक्षकों, किसानों, और सरकारी कर्मचारियों के कई संगठनों के साथ हनुमानगढ़ जिले और आसपास के इलाकों में कार्य करती आई है। इस सामूहिक कार्य का नतीजा यह हुआ है कि सरकार की जन-विरोधी नीतियों के खिलाफ एक मजबूत मोर्चा बनाने का कार्य काफी आगे बढ़ा है। शिक्षा के निजीकरण के खिलाफ शिक्षकों का आंदोलन, कृषि की उत्पादों के लिए लाभकारी मूल्य और सिंचाई के पानी के लिए किसानों का आंदोलन, और सरकारी कर्मचारियों का आंदोलन मजबूत हुआ है और उसे गति मिली है। इन संगठनों के सदस्यों का हौसला बहुत बढ़ गया है। सभी संगठनों की संघर्ष में एकता को मजबूत करने और अगले कदमों की योजना बनाने के लिए लोक राज संगठन की राजस्थान परिषद् ने एक जन सभा का सफल आयोजन किया।

Condemn attacks on jobs of IT sector workers !

Submitted by admin on Wed, 2017-06-14 18:57
Statement by Maharashtra Committee of Lok Raj Sangathan and Kamgar Ekta Committee, 5 June 2017 We fully support their right to unionize to fight for their rights. We believe they should be entitled to the same rights as workers in other sectors have. We call upon all democratic minded people and all working people to stand firmly behind the IT workers!

कानूनी अधिकार के बावजूद, विस्थापित परिवारों का पुनर्वास नहीं!

Submitted by admin on Tue, 2017-06-06 18:08

Thumbnailकानूनी अधिकार के बावजूद, विस्थापित परिवारों का पुनर्वास नहीं!
आज लोक राज संगठन की अगुवाई में, दक्षिणी दिल्ली स्थित न्यू संजय कैंप के 223 विस्थापित परिवारों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सिविल लाइन स्थित आवास पर धरना दिया। धरने में बड़ी संख्या में महिला, बच्चे और बुजुर्ग उपस्थित थे।
धरने में विभिन्न प्रगतिशील संगठन और राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

पुनर्वास की आस

Submitted by admin on Tue, 2017-06-06 17:51

एक अपील
न्यू संजय कैम्प ओखला 1 व 2 के उजाड़े गये परिवारों का दर्द
दक्षिणी दिल्ली के ओखला औद्योगिक क्षेत्र 1 और 2 के मध्य बसी झुग्गी बस्ती, न्यू संजय कैंप के 223 परिवारों को पुनर्वास के लिए भटकते हुए 8 साल से ऊपर हो चुके हैं। नोएडा-सरिता विहार अण्डर पास के लिए दिल्ली सरकार ने 5 फरवरी, 2009 को इन्हें उजाड़ दिया था।